डायरेक्ट सेलिंग का इतिहास | History of Direct Selling in Hindi

History of network marketing

दोस्तों अगर आप Direct Sell Ki History के बारे में जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए है आज इस आर्टिकल में मैं आप लोगों को History of Direct Selling in Hindi के बारे में बताऊंगा की डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत कब हुई थी और तथा किस देश में डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत हुई। तो दोस्तों इस आर्टिकल को पूरा लास्ट जरूर पढ़ें ताकी आप डायरेक्ट सेलिंग की इतिहास के बारे में अच्छे से जान सकें।

वैसे तो आज दुनिया भर में हजारों Direct Selling कंपनिया हैं पर क्या आपको पता है कि ये Direct Selling बिजनेस मॉड्यूल आया कहां से और वो पहला व्यक्ति कौन था जिसके दिमाग में डायरेक्ट सेलिंग के बारे में आइडिया आया की कैसे हम अपने प्रोडक्ट्स को डायरेक्ट सेलिंग के माध्यम से सीधे कस्टमर को बेंच सकते हैं, तो चलिए आज हम डायरेक्ट सेलिंग के इतिहास के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

डायरेक्ट सेलिंग का इतिहास (History of Direct Selling in Hindi)

Direct Selling का ये सफर सन् 1886 से शुरु हुआ था। AVON दुनिया की पहली डायरेक्ट सेलिंग कंपनी है इसकी स्थापना David Mcconnell के द्वारा की गई थी। उस समय सिर्फ avon ही दुनिया की एकमात्र डायरेक्ट सेलिंग कंपनी थी। जो लोगों को घर घर जाकर किताबें बेचती थी फिर बाद में mcconnell ने किताब की जगह परफ्यूम बेंचना शुरु कर दिया और उस कंपनी का नाम बदलकर Califonia Perfume रख दिया। हालंकि इसको बाद में फिर से AVON कर दिया गया। और फिर बाद में ये कंपनी और भी नए प्रोडक्ट्स के साथ मार्केट में खूब चली और सफलता हासिल की। 

इसी को देखते हुवे अमेरिका ने सन् 1910 ईस्वी में The First Direct Association Fund लागू कर दिया। DSA यानी direct selling association अमेरिका में उन सभी कंपनियों को कन्ट्रोल करता था जो वस्तुओं और सेवाओं को सीधे कस्टमर तक पहुंचाने का काम करते थे।

Direct Selling की स्थापना

Direct Selling की स्थापना सन् 1945 ईस्वी में Dr. Carl F. Rehnborg के द्वारा किया गया था। 

Rehnborg का जन्म 15 जून 1887 को अमेरिका में हुआ था और वे 1915 से 1927 तक चीन में रहे थे उन्होंने वहां देखा की वहां के लोग अपने सेहत के प्रति बहुत जागरुक रहते हैं और अपने स्वास्थ्य के लिए तरह तरह के सेहत पदार्थों का सेवन करते हैं वही अमेरिका में इसके विपरित वहां के लोग अपने सेहत के प्रति कोई ज्यादा ध्यान नहीं देते इसी को देखते हुवे उन्होंने अमेरिका में आहार पूर्वक suppliment का बिजनेस करना शुरु कर दिया। 

California Vitamin कंपनी की स्थापना 

Rehnborg ने चीन से आने के बाद 1935 में California Vitamin कंपनी के स्थापना की। यह कम्पनी  multi vitamin प्रोडक्ट बनाती थी। पहले यह कम्पनी califorina से शुरु हुई फिर बाद में धीरे धीरे पुरे अमेरिका में फैल गई।

Nutrilite का जन्म 

Rehnborg ने बाद में सोचा की कंपनी का नाम ब्रांडेड होना चाहिए इसलिए उन्होंने बाद में सन् 1939 में California Vitamin का नाम बदलकर nutrilite रख दिया। यह कम्पनी खूब चलने लगी क्योंकि लोगों को उनके प्रोडक्ट से अच्छे रिजल्ट मिल रहे थे।  

Rehnborg के प्रोडक्ट बिकने के दो कारण थे पहला तो प्रॉडक्ट की क्वॉलिटी और दूसरी उनकी पब्लिसिटी। 

Nutrilite के प्रोडक्ट्स की क्वॉलिटी अच्छा होने के कारण लोग उनके प्रोडक्ट को पसंद करने लगे क्योंकि उन्हे अच्छा रिजल्ट मिल रहा था जिससे लोग बार बार उनके प्रोडक्ट का इस्तेमाल भी करते थे। और पब्लिसिटी होने का कारण था की उनके पास बहुत सारे direct seller थे। जिसकी वजह से उनकी प्रॉडक्ट की बिक्री बहुत तेजी से होने लगी।

MLM PLAN का अविष्कार 

सन् 1940 में rehnborg के दिमाग में एक आईडिया आया और उन्होंने सोंचा की क्यू ना हम कस्टमर को ही अपना डिस्ट्रीब्यूटर बना लें और उन्हें ही कमीशन दिया जाए। और उसके बाद उन्होंने mlm का अविष्कार किया और Nutrilite को एक नेटवर्क मार्केटिंग के रुप में उतार दिया। शुरुवात में कम्पनी ने दो लेवल तक कमीशन रखा यानी कूल बिक्री पर 2% तक का कमीशन मिलेगा इसके बाद फिर क्या था कंपनी ने दिन दुगनी रात चौगनी तरक्की करना शुरु कर दी। 

Amway का जन्म

Amway कंपनी की स्थापना Rechard Devos और Jay van Andel के द्वारा सन् 1959 में की गई इसका नाम सबसे पहले The American Way रखा गया था जिसे आज हम amway के नाम से जानते हैं। 

इससे पहले Jay van Andel और Rechard Devos दोनो Nutrilite में काम करते थे इन्होंने उस कंपनी को 1949 में ज्वाइन किया था। इन दोनो ने उस कंपनी में जीतोड़ मेहनत की और सफलता हासिल की लेकिन बाद में Nutrilite कंपनी धीरे धीरे traditional मार्केट के तरफ बढ़ना शुरु कर दिया लेकिन Jay van Andel और Rechard Devos नेटवर्क मार्केटिंग मॉड्यूल को जान चुके थे और समझ चुके थे की Nutrilite कंपनी फिर से वापस ट्रेडिशनल मार्केट के तरफ क्यूं जा रही थी। कुछ दिनों बाद ये दोनो मिलकर ने मिलकर विचार किया और the american way कंपनी की स्थापना कर दी जो आज amway नाम से जाना जाता है। Amway ने home care प्रोडक्ट के साथ एंट्री ली फिर सन् 1972 में  Nutrilite का कुछ भाग खरीद लिया और फिर 1994 आते आते amway ने Nutrilite को पूरी तरह से खरीद लिया। इसके बाद amway से inspire होकर बहुत सारी कंपनियों ने mlm के कांसेप्ट पे काम करना शुरु कर दिया।

डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत कब हुई?

डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत सन् 1886 में हुआ था।

डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत कहां से हुआ था?

डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत अमेरिका के कैलिफोर्निया से शुरू हुआ था।

दुनिया की पहली डायरेक्ट सेलिंग कंपनी कौनसी है?

Avon दुनिया की पहली डायरेक्ट सेलिंग कंपनी है इसको David Mcconnell द्वारा 1886 में शुरू किया गया था।

डायरेक्ट सेलिंग की स्थापना किसने की

डायरेक्ट सेलिंग की स्थापना सन् 1945 ईस्वी में Dr. Carl F. Rehnborg के द्वारा किया गया था। 

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में मैने आपको History of Direct Selling in Hindi के बारे में बताया जिसमे आपने जाना की डायरेक्ट सेलिंग की शुरुआत कब हुई तथा किस व्यक्ति ने इसको शुरू किया था। दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अन्य लोगों तक भी जरूर शेयर करें ताकी वे भी Direct Selling History in Hindi के बारे में जान सकें।

6 thoughts on “डायरेक्ट सेलिंग का इतिहास | History of Direct Selling in Hindi”

  1. Very very important thank you so much 🙏 logo ke pas only information hai aur knowledge nhi hai esi liye glt tarike se dekhte hai direct selling ko 💯✅🎯🙏🙏

    Reply

Leave a Comment