Chain System है क्या? ऐसे दें जवाब | Network Marketing Objection Handling

Network Marketing Objection Handling Chain System

नेटवर्क मार्केटिंग में जब हम किसी को इनवाइट कर रहे होते हैं या प्रेजेंटेशन दे रहे होते हैं तो प्रोस्पेक्ट हमसे अक्सर ये सवाल पूछ बैठता है, कहीं ये Chain System To Nahi Hai, मेंबर बनाने वाला काम तो नहीं है? ऐसे में आपको क्या जवाब देना चाहिए आज इस आर्टिकल में इसी के बारे में जानेंगे और कैसे आप उन्हें समझा सकते हैं।

अच्छा क्या आप जानते हैं की वह ऐसा सवाल करता क्यों हैं? दरअसल सच तो ये है की लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में कुछ पता ही नही होता है, उनको ये भी नही पता होता की लोग पैसिव इंकम कैसे कमाते हैं? उनको बस इतना पता होता है की पढ़ाई करनी है, डिग्री लेनी है और नौकरी करनी है उनको Entrepreneurship के बारे में कुछ पता ही नही होता और जब आप उनको नेटवर्क मार्केटिंग की पोटेंशियल के बारे में बताते हैं तो अक्सर वो पूंछने लग जाते हैं की ये Chain System To Nahi Hai, मेंबर बनाने वाला काम तो नही है? तो ऐसे में आप उनको दो तरह से जवाब दे सकते हैं।

इसमें आपको दो चीज क्लियर करना है

1. चैन सिस्टम होता क्या है? Chain System Hota Kya Hai

2. चैन सिस्टम के फायदे क्या क्या हैं? Chain System Ke Fayde

1. पहले आपको क्लियर करना है चैन सिस्टम होता क्या है? 

आपको उनसे पूछना है क्या आप कभी McDonald’s गए हो? वो बोलेगा हां, बर्गर खाया है? वो बोलेगा हां खाया हूं, तब आपको बोलना है आप विकिपीडिया खोलिए और उसमें McDonald’s सर्च कीजिए, उसमें लिखा हुआ आएगा ‘McDonald’s is a chain of restaurants’ यानी की मैकडोनाल्ड भी एक चैन का हिस्सा है तब तो आपको मैकडोनाल्ड नहीं जाना चाहिए, बर्गर नहीं खाना चाहिए। डोमिनोज भी एक चैन का हिस्सा है तो पिज्जा भी मत खाओ। यहां तक की आपके घर में जो भी सामान आता है आटा, चावल, तेल, नमक सब एक चैन का हिस्सा है, आप ये सामान दुकान से लाते हैं लेकिन दुकान वाला सीधे फैक्ट्री से ये सामान नही लाता, वो भी wholesaler से लाता है। यानी Factory-Stocklist-Wholesale-Reatiler-Consumer ऐसा एक चैन बनता है तब जाकर कोई भी प्रोडक्ट आपके घर तक पहुंचता है।

यहां तक की एक देश को चलाने के लिए भी एक चैन बनाना पड़ता है, सबसे ऊपर प्रधानमंत्री होते हैं, फिर राज्य को चलाने के लिए मुख्यमंत्री, संभाग और जिला को चलाने के लिए सांसद और विधायक इस तरह से एक चैन बनता है तबजाकर एक देश चलता है। इस दुनिया में जो भी काम हो रहा है वो एक चैन के माध्यम से ही हो रहा है। एक घर भी बनता है तो एक एक ईट जुड़ता है तब जाकर एक घर तैयार होता है, इंसान का जेनरेशन भी एक चैन सिस्टम से चल रहा है, पहले दादा दादी से जुड़े, पापा मम्मी से जुड़े, तब हमारा जन्म हुआ और अगर हम चैन नहीं बनाएंगे तो हमारा जेनरेशन यहीं खत्म हो जाएगा। किसी भी चीज को आगे तक बढ़ाने के लिए चैन बनाना जरूरी है।

2. चैन सिस्टम होता क्या है? इतना समझाने के बाद अब आपको चैन सिस्टम के फायदे के बारे में बताना है।

उससे सबसे पहले ये पूछिए की क्या आप अपने Job या Self Employment में पैसिव इनकम कमा सकते हैं? पहले उसे पैसिव इनकम के बारे थोड़ा बता दीजिए क्योंकि बहुत से लोग ऐसे होते हैं जिन्हें पैसिव इनकम के बारे में कुछ पता ही नही होता। उनको बता सकते हैं की पैसिव इनकम मतलब होता Income Without Work यानी यदि आप काम नही भी करते हैं तो भी आपको पैसा आता रहे, क्या आपके जॉब या सेल्फ एंप्लॉयमेंट में ऐसा हो सकता है? नहीं, जॉब में सिर्फ तभी तक पैसा आता है जबतक आप काम करते हैं। लेकिन जो लोग बिजनेस करते हैं वो लोग अगर काम नहीं भी करते तो भी उनको पैसा जाता रहता है, ऐसा तभी हो पाता है क्योंकि वो अकेले काम नहीं करते, उनका एक टीम होता है, एक नेटवर्क होता है जिससे यदि वे काम नही भी करते हैं फिर भी उनका काम चलता रहता है और पैसे आते रहते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस आपके लिए एक मौका है अपना एक नेटवर्क बनाने का और पैसिव इनकम कमाने का, ये मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि इस बिजनेस को बहुत ही कम पैसों में स्टार्ट किया जा सकता है और अमीर लोगों की तरह आप भी इस बिजनेस से नेटवर्क खड़ा कर सकते हैं जिससे लाइफटाइम पैसिव इनकम मिलता रहे।

दोस्तों आपने इस आर्टिकल में जाना Network Marketing Objection Handling Chain System To Nahi Hai के बारे में। अगर प्रोस्पेक्ट आपसे ये पूंछता है की Chain System Hai Kya तो उसको आप इस तरह से समझा सकते हैं।

Leave a Comment