आखिर लोग नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में निगेटिव क्यों बोलते हैं? Why is there so much negativity about network marketing in India?

Quora ऐप्लिकेशन · इंस्‍टॉल किया गया Why is there so much negativity about network marketing in India

दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे Log Network Marketing Ke Bare Me Negative Kyu Bolte Hai के बारे में।

जब हम नेटवर्क मार्केटिंग में आते हैं तो हमे कई सारे ऑब्जेक्शन का सामना करना पड़ता है। लेकिन आप यह भूल जाते हैं की ऑब्जेक्शन तो सभी बिजनेस में आता है। यह तो एक बिजनेस का पार्ट है।

जैसे हम एडिडास का शोरूम खोलते हैं तो जितने भी कस्टमर आते हैं तो सारे तो एडिडास को शूज नही लेते तो रिजेक्शन तो उन्हे भी फेस करना पड़ता है। अब चाहे जिओ का नेटवर्क ही क्यों ना हो लोग तो उसमे भी ऑब्जेक्शन खड़ा करते हैं। तो आपको क्या करना पड़ेगा, इसमें मास्टरी हासिल करना होगा। 

अगर आप कच्चा दिमाग लेकर मार्केट में उतरते हैं तो कोई दूसरा व्यक्ति ऑब्जेक्शन करता है और आप जवाब नही दे पाते, तो आप खुद के डिसीजन पर शक करने लगते हैं। और माइंड भी धीरे धीरे यह मान है की यह सही बोल रहा है शायद मैं गलत प्रोफेशन में आ गया हूं। 

आखिर लोग नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में निगेटिव क्यों बोलते हैं? Why is there so much negativity about network marketing in India?

जब नेटवर्क मार्केटिंग कांसेप्ट शुरुआत में आया तो लोगों को बहुत पसंद आया। कुछ बाहर से कंपनी आई और उन्होंने इस बारे में बात की, प्रोडक्ट को साइड में रखकर केवल नेटवर्क मार्केटिंग के कांसेप्ट को बेचा।

काफी लोग इस कंपनी से जुड़े, कई लोग इस कांसेप्ट से बहुत पैसे भी कमाएं। इन सब कंपनीज के साथ एक प्रॉब्लम थी की ये सब बिना प्रोडक्ट के काम रहीं थी, अपना पोंजी स्कीम चला रहीं थी ”पैसा लगाओ पैसा कमाओ”

काफी कंपनीज लोगों का पैसा लेकर भाग गई। इससे लोगों को काफी नुकसान हुआ। कुछ लालची लोगों ने ऐसी कंपनी स्टार्ट की थी और लोगों का भरोसा जीतकर उनका पैसा लेकर भाग गए। जिससे लोगों ने नेटवर्क मार्केटिंग पर भरोसा करना बंद कर दिए।

कुछ कंपनी आती और रातों रात अमीर बनाने का दावा करती है। ऐसी कंपनीज एक फिक्स डिपोजिट लेती है और कहती है अगले 12-18 महीने के बाद आपको एक फिक्स इनकम मिलती रहेगी। ऐसी कंपनी लोगों को बेवकूफ बनाती है।

वह दो तीन साल के अंदर ही लोगों का पैसा लेकर भाग जाती है। इन कांपनीज में केवल पैसा सर्कुलेट होता है। 

कुछ अच्छी कंपनीज भी आई लेकिन लगातार पोंजी स्कीम, चिटफंड कंपनियों के वजह से लोग इन अच्छी कंपनीज को नही देख पाते। 

नेटवर्क मार्केटिंग को लेकर लोग नेगेटिव हैं लेकिन खुशी इस बात है की लोग अब इस कांसेप्ट को समझ रहे हैं।

इसकी पावर को जान रहे हैं और अब पोंजी स्कीम पर भी शख्त कानून बन गए हैं। अब केवल अच्छी कंपनीज ही ठीक से चल पाएंगी।

दोस्तों आपने इस आर्टिकल में जाना Log Network Marketing Ke Bare Me Negative Kyu Bolte Hai के बारे में। अब आप जान गए होंगे की लोगों में नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति नेगेटिविटी कैसे फैला।

Leave a Comment