लोगों की No को Yes में कैसे बदलें? How to Handle No in Network Marketing | Network Marketing Objection Handling Series in Hindi

Network Marketing Me Logon Ki No Ko Yes Me Kaise Badle, Network Marketing Me Logon Ko Kaise Joden

दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Network Marketing Me Logon Ki No Ko Yes Me Kaise Badle के बारे में जानेंगे।

नेटवर्क मार्केटिंग में अक्सर हमें लोगों की No सुनने को मिलता है, जिसपर सबकी अलग अलग रिएक्शन होता है लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग में No सुनने के बाद जो सही रिएक्शन होता है उसके बारे में आज हम जानेंगे।

दोस्तों इस आर्टिकल में मैं आप लोगों को बताऊंगा कि अगर कोई आपको नेटवर्क मार्केटिंग में नो बोलता है तो आपका उसपर क्या रिएक्शन होना चाहिए और किस तरह से उसे हैंडल कर सकते हैं। इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आप समझ जाएंगे की  Network Marketing Me Logon Ki No Ko Yes Me Kaise Badla Jata Hai  क्योंकि यह एक ऐसा ऑब्जेक्शन है जो हर नेटवर्कर को फेस करना पड़ता है लेकिन अगर आपको इसे हैंडल करना नही आता तो आपको बहुत दिक्कत आने वाली है। 

How to Handle No in Network Marketing

दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग में एक व्यक्ति तब तक असफल नही कहलाता जबतब वह इस बिजनेस को छोड़ नही देता, नेटवर्क मार्केटिंग में असफल का मतलब होता है इस बिजनेस को छोड़ देना। 

इस बिजनेस में ऐसे बहुत से लोग हैं जिनको शुरुआती दौर में उतनी सफलता नहीं मिली थी जितनी वे एक्सपेक्ट कर रहे थे, कुछ लोग तो इस बिजनेस में ऐसे भी हैं जिनको शुरुआत के दो तीन साल तक कोई खास सफलता नहीं मिली थी लेकिन वे जैसे जैसे इस बिजनेस में काम करते गए, लोगों की हजारों नो सुनने के बाद भी वे इस बिजनेस में लगे रहे, टाइम देते गए तब जाकर धीरे धीरे उनकी टीम बढ़ी, उनके टीम में अच्छे लोग जुड़ने लगे और फिर एक टाइम ऐसा आया जब वे इस बिजनेस के शीर्ष सफल लोगों में पहुंच गए। और आज नेटवर्क मार्केटिंग से बहुत अच्छा पैसा कमा रहे हैं।

दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग में No का मतलब ना नही होता, नेटवर्क मार्केटिंग में No का मतलब होता Next Opportunity यानी की ‘अभी नही’ 

नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस एक कंडीशनल बिजनेस है, यहां पर जब लोग इस बिजनेस को देखते हैं तो मैटर ये नहीं करता की आप उनको क्या बता रहे हो, मैटर ये करता है की इस समय उनकी वर्तमान जरूरत है या नही जो आपका बिजनेस है। मैटर ये नही करता की आप लोगों को कितना बढ़िया प्रेजेंटेशन दिखाते हो, मैटर ये करता है की आप लोगों को कितना ज्यादा प्रेजेंटेशन दिखाते हो। 

दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग में परफेक्ट प्रेजेंटेशन जैसा कुछ नही होता, कई लोग ऐसे होते हैं जो ये मान लेते हैं की सिर्फ हमारे अपलाइन ही बढ़िया प्रेजेंटेशन दिखा सकते हैं, हालांकि ये कुछ हद तक ठीक है की प्रोस्पेक्ट को सतर्कता के साथ प्रेजेंटेशन दिखाना चाहिए लेकिन ये मान लेना की सिर्फ हमारा अपलाइन ही बढ़िया प्रेजेंटेशन दिखा सकता है, सिर्फ अपलाइन के प्रेजेंटेशन दिखाने से ही सारे लोग ज्वाइनिंग करेंगे तो ये आपको गलतफहमी है।

दोस्तों इस बात को नोट करके रख लीजिए की नेटवर्क मार्केटिंग में ये मैटर नही करता की आप कितना बढ़िया प्रेजेंटेशन दिखाते हैं, बल्कि मैटर ये करता है की आप कितना ज्यादा प्रेजेंटेशन करते हैं। 

नेटवर्क मार्केटिंग में जब कोई नो बोलता है तो लोग उसे दिल पे ले लेता हैं, उसके नो को पर्सनली ले लेते हैं। लेकिन दोस्तों मैं आपको बता दूं नेटवर्क मार्केटिंग में जो लोग जितना ज्यादा इस बिजनेस में रिजेक्शन फेस किए हैं उतने ही वे इस बिजनेस में ज्यादा कामयाब हुए हैं। 

नेटवर्क मार्केटिंग में एक लाइन है ‘the most rejected people are the most successful people in network marketing business‘ 

The more you get rejected the more you become successful यानी जितना ज्यादा आप इस बिजनेस में रिजेक्शन को फेस करोगे उतना ही ज्यादा आपको इस बिजनेस में सफलता मिलेगी।

दोस्तों यहां पर ज्यादा से ज्यादा रिजेक्शन का मतलब ये नही है की आप ज्यादा से ज्यादा फेलियर हो जाएं, यहां पर रिजेक्शन का मतलब है ज्यादा से ज्यादा रिजेक्शन को yes में तब्दील करने की कला आपमें होनी चाहिए। 

आपको Low of Average को समझना होगा की लोगों का कन्वर्ट होने का एवरेज क्या है, सिर्फ नेटवर्क मार्केटिंग ही नही दुनिया की हर सेल्स फील्ड में Low of Average काम करता है। यानी की लोगों का कन्वर्जन कितना है सेल्स में।

Low of Average Kya Hota Hai

वैसे तो Low of Average सभी जगह देखा जाता है लेकिन हम यहां सेल्स की बात कर रहें हैं। मान लीजिए आप कोई प्रोडक्ट सेल कर रहें तो यदि आप 100 लोगों को अपना प्रोडक्ट दिखाते हैं तो कम कम से 20 लोग तो उसे खरीद ही लेंगे या फिर उससे ज्यादा लोग भी खरीदें या कम भी हो सकता है और फिर रोज का आपके सेल्स होने जो आंकड़ा होगा उसे से आप Low of Average को समझ सकते हैं। 

उदाहरण के तौर पर समझ लो नोएडा में एक मॉल है वहां पर ग्राउंड फ्लोर में टॉमी का एक शोरूम हैं अब वहां पर एक व्यक्ति जींस लेने के लिए गया वहां पर वह देखता है की 10-15k की एक जींस पड़ रहा है लेकिन उसके पास उतना बजट नही की वह 10-15k वाली जींस खरीद सके तो वह वहां से दूसरे शोरूम में चला गया और वहां से उसने दो हजार रुपए की जींस खरीद ली। 

अब जो टॉमी का मालिक है क्या वह अपना शोरूम बंद कर देगा? नही, काय क्योंकि उसको पता है की अगर मेरे शोरूम में दिनभर में 200 कस्टमर भी आएंगे तो 20-25 कस्टमर ऐसे होंगे जो जरूर शॉपिंग करके जाएंगे यही होता है Low of Average.

दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग एक सेल्स का बिजनेस है, एक मार्केटिंग बिजनेस है। दोस्तों क्या आप जानते हैं नेटवर्क मार्केटिंग में 44% लोग सिर्फ इसलिए फैल हो जाते हैं क्योंकि वे लोगों की पहली ना सुनने के बाद उन्हें कभी फॉलो अप नहीं करते।

इसको आप इस प्रकार समझिए, लोग जब प्रोस्पेक्ट को मीटिंग के लिए इन्वाइट करते हैं या मीटिंग के बाद फॉलो आप करते हैं तो 44% लोग ऐसे होते हैं जो पहली ना सुनने पर ही उन्हें फॉलो अप करना बंद कर देते हैं या दुबारा मीटिंग में नही बुलाते और 22% लोग ऐसे होते हैं जो दूसरी ना सुनने के बाद उन्हें फॉलो अप करना बंद कर देते हैं। 14% लोग तीसरी नो के बाद उन्हें कभी फॉलो अप नहीं करते और 12% लोग ऐसे होते है जो चौथी नो के बाद फॉलो अप करना छोड़ देते हैं। 

इसका मतलब ये की नेटवर्क मार्केटिंग में 100 में से 92% लोग ऐसे होते हैं जो चौथी नो सुनने के बाद प्रोस्पेक्ट को फॉलो अप करना बंद कर देते हैं। जबकि एक रिसर्च के अनुसार 60% प्रोस्पेक्ट पांचवी फॉलो अप के बाद कन्वर्ट होते हैं, यानी की अगर आपको नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होना है तो आपको पांच से भी ज्यादा फॉलो अप करना होगा, आप बस ये समझ लीजिए की अगर आपको इस बिजनेस में कामयाब होना है तो आपको किसी के ना से कोई फर्क नही पड़ना चाहिए। सिर्फ नेटवर्क मार्केटिंग ही नही चाहे कोई भी सेल्स फील्ड हो आप तभी सफल हो सकते हैं जब आपको किसी के ना कहने से कोई फर्क ना पड़े और आप अपना काम जारी रखें।

जब भी आप किसी को इनवाइट करते हो, प्रेजेन्टेशन देते हो या फॉलो अप करते हो अगर कोई आपको उस समय नो बोलता है तो आपको बिलकुल नॉर्मल रहना है चाहे उसका प्रेजेन्टेशन या मीटिंग का परिणाम yes हो या no अगर आप नॉर्मल रहोगे तो इससे आपको फर्क नही पड़ेगा की वह चौथी बार नो बोल रहा है या पांचवी बार। 

आप जितना ज्यादा से ज्यादा लोगों को फॉलो अप करेंगे उतना ही आपको कन्वर्जन मिलेगा। हां यहां पर आपको ये भी समझना होगा की वह आपके बार बार फॉलो अप से irritate ना हो जाए, आपको एक तरीके से फॉलो आप करना है। क्योंकि जितनी बार आप उसे फॉलो आप करेंगे उतना ही ज्वाइनिंग के कगार में आता जाएगा।

जिस तरह से आप एक पेड़ को काटने के लिए सैकड़ों बार कुल्हाड़ी चलाना पड़ता है, अगर वह पेड़ 100वीं बार में कटता है तो उसपर पहले 99 बार कुल्हाड़ी चलता है तब जाकर वह कटता है। 

यानी की आपको लगातार फॉलो अप करते रहना है एक टाइम ऐसा आएगा जब प्रोस्पेक्ट को No, Yes में तब्दील हो जाएगा।

No इस बिजनेस का एक पार्ट है लेकिन अगर आपको इस बिजनेस में कामयाब होना है तो आपको नो से कोई फर्क नही पड़ना चाहिए और निरंतर फॉलो अप करते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग में प्रोस्पेक्ट ज्यादातर दो ही कारण से No बोलता है, पहला उसका अभी इस बिजनेस में ज्वाइन करने की जरूरत ना हो और दूसरा हो सकता है आप उसे इस बिजनेस की वैल्यू नही दिखा पा रहें हों।

अगर आप उसको वैल्यू नही दिखा पा रहें या सही से इन्विटेशन नहीं कर पा रहें तो अभी आपको अपने स्किल में सुधार करने की जरूरत है, लेकिन अगर वह अभी इस बिजनेस में ज्वाइन होने के फेवर में ना हो तो आपको निरंतर फॉलो आप करते रहना है क्योंकि जैसा मैंने पहले बताया 60% प्रोस्पेक्ट ऐसे होते हैं जो पांचवी फॉलो अप के बाद कन्वर्ट होते हैं इस बिजनेस में साइन अप के लिए।

एक ज़रूरी बात और इस बिजनेस में कभी भी किसी को पहले से जज ना करें की यह व्यक्ति इस बिजनेस में काम करेगा की नही क्योंकि कई लोग ऐसे होते हैं जो शुरुआत में थोड़ा टाइम लगाते हैं लेकिन जैसे ही उनको इस बिजनेस की समझ आने लगती है वो तेजी से इस बिजनेस में आगे बढ़ने लगते हैं। 

किसी को भी जज करने से पहले उसे थोड़ा टाइम दे ताकि वह इस बिजनेस को पहले अच्छे से समझ सके कुछ दिन काम करने के बाद पता चलेगा की वह काम करने लायक है या नही अगर आपको लगता है की उसके अंदर वह गुण है जो एक उसे नेटवर्क मार्केटिंग में सफल बना सकता है तो उसपर फोकस करें और उसे आगे बढ़ाए क्योंकि आपकी डाउनलाइन की सफलता ही आपकी सफलता है।

दोस्तों आपने इस आर्टिकल में जाना Network Marketing Me No Ko Kaise Handle Kare के बारे में। अब समझ गए होंगे की लोगों की No को Yes में कैसे बदलना है।

Leave a Comment