अगर लोग नही जुड़े तो? What If People Don’t Join | Network Marketing Objection Handling

What If People Don't Join Network Marketing Objection Handling

जब आप प्रोस्पेक्ट को प्लान दिखा रहे होते हैं तो कभी कभी वह ऑब्जेक्शन कर देता है की “Agar Log Nahi Jude To” तो उसे कैसे समझना है? इस आर्टिकल में मैं आप सभी को बताऊंगा।

इसे आप इस तरह से समझिए क्या कोई स्टूडेंट मेडिकल की पढ़ाई करते समय यह ऑब्जेक्शन करता है की अगर मैं मेडिकल की पढ़ाई कर लूं और डॉक्टर नही बन पाया तो? या कोई व्यक्ति बिजनेस स्टार्ट करने से पहले यह ऑब्जेक्शन करता है की अगर मैं बिजनेस स्टार्ट कर लूं और मेरे पास क्लाइंट नही आया तो?

नहीं, क्योंकि उस स्टूडेंट को भरोसा होता है की अगर मैं सही से पढ़ाई किया तो जरूर डॉक्टर बनूंगा या सही से बिजनेस किया तो मेरे पास जरूर क्लाइंट आएंगे।

ठीक इसी तरह जब आप प्रोस्पेक्ट को प्लान दिखाएं तो उसे भी यह भरोसा होना चाहिए की अगर मैं सही से इस बिजनेस को करूंगा तो मैं भी इसमें कामयाब हो सकता हूं।

अगर लोग नही जुड़े तो? (What If People Don’t Join – Network Marketing Objection Handling)

तो अगली बार जब आप किसी प्रोस्पेक्ट को प्लान दिखाएं और यदि वह बोलता है की “लोग नही जुड़े तो” तब आप उससे एक सवाल पूंछिए, अच्छा आप एक बात बताइए की इस दुनिया में क्या आपके पास ही Embition है, क्या सिर्फ आपको ही Traveling पसंद है? क्या आप बस ही पैसा कमाना चाहते हैं? तो वो बोलेगा नही, पैसा तो सभी कमाना चाहते हैं, ट्रेवलिंग तो सभी को पसंद होता है।

तो फिर आप बोलिए That’s it तो फिर आप घबराते क्यों हैं? आपको ऐसा क्यों लगता है की लोग नही जुड़ेंगे। अगर आपको यह बिजनेस अच्छा लगा तो दूसरों को भी अच्छा लगेगा।

नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में आकर लोग अपने सपनो को पूरा करते हैं, उन्हे समय की आजादी मिलती है, देश विदेश घूमने का मौका मिलता है। तो अगर आपको यह बिजनेस पसंद आया तो जाहिर सी बात है दूसरों को भी पसंद आएगा। क्योंकि हर कोई अपने सपनों को पूरा करना चाहता है, हर किसी की अपने लाइफ में फ्रीडम चाहिए, हर कोई देश विदेश घूमना चाहता है।

आपको घबराने की जरूरत नही है हम इसमें आपकी मदद करेंगे सफल होने में, हम इसमें आपको एजुकेट करेंगे की कैसे लोगों को इस बिजनेस के लिए इन्वाइट किया जाता है, कैसे उन्हे इस बिजनेस के बारे में बताया जाता है, आपको बस लोगों से मिलवाना है।

आप खुद सोचिए आप कम से कम नही तो 200-300 लोगों को तो जरूर जानते होंगे, क्या उनमें से 20-30 लोग भी नही जुड़ेंगे? अगर आपको यह बिजनेस अच्छा लगा है तो उन्हे भी अच्छा लगेगा।

दरअसल जब कोई प्रोस्पेक्ट बोलता है की “अगर लोग नही जुड़े तो” तो असल में यह वह डर रहा होता है की अगर मै ज्वाइन कर लूं और लोगों को नहीं जोड़ पाया तो क्या होगा? तो यह आपका काम है की उसके डर को खतम करना और उसे एजुकेट करना ताकि वह इस बिजनेस को समझ सके और इसमें ज्वाइन करे।

दोस्तों इस आर्टिकल में आपने सीखा “Log Nahi Jude To” Network Marketing Objection Handling  के बारे में। उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इसे अपने टीम वालों के साथ भी शेयर करें ताकी उन्हे भी यह जानकारी मिल सके।

Leave a Comment