3 Types of Prospect in Network Marketing किस पर ज्यादा फोकस करें?

दोस्तों क्या आप नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में प्रोस्पेक्ट की जल्दी ज्वाइनिंग कराना चाहते हैं तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए है।

Types of Prospect in Network Marketing in Hindi

इस आर्टिकल में मैं आप सभी को तीन तरह के प्रोस्पेक्ट (3 Types of Prospect in Network Marketing) के बारे में बताऊंगा, क्योंकि यदि आप समझ लेते हैं की किस तरह के प्रोस्पेक्ट के ऊपर ज्यादा ध्यान देना चाहिए तो फिर आप उन्हें आसानी से ज्वाइन करा सकते हैं।

3 Types of Prospect in Network Marketing

1. Positive Prospect

इस तरह के प्रोस्पेक्ट ज्यादा नेगेटिव सवाल नहीं करते हैं और आप उन्हें जो भी समझाते हैं उसे समझने की कोशिश करते हैं अगर ये सवाल भी करते हैं तो अपने डाउट को क्लियर करने के लिए पूछते हैं। अगर आप इन्हे वेबिनार में बुलाते हैं तो ये वेबिनर में भी आते हैं, यदि आप इन्हे कुछ जानकारी भेजते हैं तो उसे पढ़ते हैं, यदि आप इन्हे कॉल करते हैं तो आपका कॉल भी रिसीव करते हैं। कहने का तात्पर्य है की इस तरह के प्रोस्पेक्ट Opportunity को समझते हैं, अगर आप इस तरह के प्रोस्पेक्ट के ऊपर ज्यादा ध्यान देंगे तो उन्हे आसानी से ज्वाइनिंग करा सकते हैं।

2. Sceptic Prospect

इस तरह के प्रोस्पेक्ट ना तो पॉजिटिव होते हैं और ना ही पूरी तरह नेगेटिव होते हैं, लेकिन उनके अंदर डाउट बहुत रहता है। और ज्यादातर प्रोस्पेक्ट ऐसे ही मिलते है, दोस्तों इस तरह के प्रोस्पेक्ट को ज्वाइन कराने का सही तरीका है अगर ये आपसे कोई सवाल करते हैं तो उन्हें समझाने की कोशिश करें, अगर ये आपसे कुछ उल्टा सीधा भी सवाल करते हैं तो उनसे बहस करने के बजाय उन्हें सही जानकारी देने की कोशिश करें। कई लोग ऐसे भी करते हैं जो प्रोस्पेक्ट के सवालों से परेशान होकर उनसे बहस करने पे आ जाते हैं जिससे उनको ज्वाइनिंग नही मिलती। इस तरह के प्रोस्पेक्ट अगर पहली बार में ज्वाइनिंग नहीं होते हैं तो आप उन्हें पैसिव फॉलोअप में रख सकते हैं, लेकिन आपको पूरी तरह से इन्ही पर निर्भर नहीं रहना है आप इन्हे फॉलोअप करते रहिए और साथ साथ दूसरे प्रोस्पेक्ट पर भी ध्यान दें।

3. Negative Prospect

इस तरह के प्रोस्पेक्ट वो होते हैं जो सिर्फ नेटवर्क मार्केटिंग ही नही, हर Opportunity को नेगेटिव वे में लेते हैं, इन्हे अगर आप सिखाएंगे भी तो ये सीखने की कोशिश नही करते हैं। इनकी माइंडसेट ही नौकरो वाली होती है अगर आप इन्हे बिजनेस की बात बताएंगे तो आपका ही मजाक बनाने लगेंगे, इनको करना कुछ नही होता है और सिर्फ बड़ी बड़ी बाते करेंगे। इस तरह के प्रोस्पेक्ट के ऊपर ध्यान देने से कोई मतलब नहीं इसमें आपका ही टाइम वेस्ट जाएगा। इससे अच्छा आप ऐसे प्रोस्पेक्ट को खोजें जिनको Opportunity की तलास हो, जो अपने लाइफ में कुछ करना चाहते हों।

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल (3 Types of Prospect in Network Marketing) में आपने इन तीन तरह के प्रोस्पेक्ट के बारे में जाना, अगर आपको नेटवर्क मार्केटिंग में जल्दी अपनी टीम बनाना है तो आप पॉजिटिव प्रोस्पेक्ट के ऊपर ज्यादा ध्यान दें, उसके बाद बाकी प्रोस्पेक्ट को देखें। इसमें आप 80% फोकस पॉजिटिव प्रोस्पेक्ट के ऊपर करें और 20% फोकस Sceptic प्रोस्पेक्ट के ऊपर। पर जो प्रोस्पेक्ट बिलकुल नेगेटिव हों उनके ऊपर टाइम वेस्ट मत करें इसमें आपका ही नुकसान है।

उम्मीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा, अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अपने टीम वालों को भी भेजें ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके।

Leave a Comment