दीपक बजाज का जीवन परिचय | Deepak Bajaj Biography in Hindi

दोस्तों अगर आप दीपक बजाज सर की जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते हैं या सर्च कर रहें हैं Deepak Bajaj Biography in Hindi तो यह आर्टिकल आपके लिए है।

आज इस आर्टिकल में मैं आप सभी को दीपक बजाज सर की जीवन परिचय के बारे में विस्तार से बताऊंगा तो दोस्तों अगर आप इनकी लाइफ से जुड़ी हर जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़ें।

Deepak Bajaj Biography in Hindi

नामदीपक बजाज
उपनामदीपक
जन्म तिथि 6 जून 1980
जन्म स्थानजतुसना, हरियाणा
उम्र2022 तक 42 साल
पिताराजेश बजाज
माताअनिला बजाज
पत्नीतनीमा बजाज
बच्चेनिर्भय, प्रशंशा, सक्षम
वर्तमान निवासदिल्ली, भारत
धर्महिंदू
नागरिकताभारतीय
स्कूली शिक्षा Delhi Public School
कॉलेजT A Pai Management Institute (TAPMI)
DegreeB.Com, MBA
पेशा Network Marketer, Motivational Speaker, Writer, Youtuber, Network Marketing Trainer, Business Coach.
अवॉर्ड Best Network Marketing Book Author, Best Direct Selling Trainer
शौकघूमना, किताबें पढ़ना
गाडियांMercedes, BMW
कमाई5-20 लाख/महीना

दीपक बजाज कौन हैं? Who is Deepak Bajaj

दीपक बजाज भारत के प्रमुख नेटवर्क मार्केटिंग लीडरों में से एक हैं तथा ये एक बेस्ट लेखक भी हैं इनके द्वारा लिखा गया किताब “बनिए नेटवर्क मार्केटिंग मिलिनोएर” भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली नेटवर्क मार्केटिंग की किताब है। साथ ही ये एक बेस्ट ट्रेनर तथा बिजनेस कोच भी हैं जो लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग की ट्रेनिंग देने के लिए तथा भारत में नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए कई इवेंट तथा सेमिनार कराते हैं, इनका एक यूट्यूब चैनल भी है Deepak Bajaj नाम से जहां पर आप फ्री में नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में सीख सकते हैं। इनका विडियोज अक्सर नेटवर्क मार्केटिंग से संबधित ही होता है जिसमे ये नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ी हर तरह की जानकारी देते हैं। वर्तमान में इनके यूट्यूब चैनल में 9 लाख से भी ज्यादा सब्सक्राइबर हैं।

दीपक बजाज का बचपन

दीपक बजाज सर एक मध्यम वर्गीय परिवार से बिलोंग करते थे इनका जन्म 6 जून 1980 को हरियाणा राज्य के एक छोटे से गांव जतुसना में हुआ था, इनके पिताजी एक सरकारी डिस्पेंसरी में फार्मासिस्ट थे तथा इनकी माताजी एक टीचर थी। जब दीपक बजाज मात्र 6 साल के थे तभी इनके पिताजी का देहांत हो गया था जिसके वजह से अब उनके परिवार में उनकी माताजी और छोटे भाई को मिलाकर सिर्फ तीन लोग ही थे।

शिक्षा तथा नौकरी

दीपक सर अपनी स्कूली शिक्षा Delhi Public School स्कूल से पूरी किए इसके बाद इन्होंने गर्वनमेंट नेशनल कॉलेज सिरसा से B.Com की पढ़ाई की तथा TA Pai Management Institute से MBA की पढ़ाई पूरी की, इन्होंने 2003 तक अपनी पढ़ाई पूरी कर ली थी इसके बाद इनको एक टॉप MNC कंपनी में जॉब मिल गई जहां ये चार स्टेट के रीजनल अधिकारी थे, जो की उस समय सबसे कम उम्र में रीजनल अधिकारी बनने का एक रिकॉर्ड था इन्होंने मात्र 24 साल की उम्र में वो मुकाम हासिल किया था। लेकिन दोस्तों वो कहते ना कुछ बड़ा करने की चाहत इंसान को और बड़ा बना देती है, कुछ ऐसा ही हुआ दीपक बजाज सर के साथ वैसे तो ये पहले से ही एक अच्छे जॉब में थे लेकिन इनको अपने लाइफ में कुछ और बड़ा करना था, एक बड़ा आदमी बनना था और इसी चाहत ने उन्हें नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस तक खींच लाया।

नेटवर्क मार्केटिंग कैरियर

ये बात है सन् 2007 की उस समय दीपक बजाज सर एक अच्छी जॉब कर रहे थे लेकिन तभी इन्होंने किसी अपने एक फ्रेंड के माध्यम से नेटवर्क मार्केटिंग का प्लान देखा और इनको इतना पसंद आया की ये पहली बार में ही ज्वाइन होने के लिए मान गए क्योंकि इन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग की पोटेंशियल को समझ लिया था की लाइफ में अगर बड़ा करना है तो ये बिजनेस उनके लिए बेस्ट रहेगा, उनको पता था जॉब में जो वो चालीस में हासिल करेंगे इस बिजनेस से वो चार पांच साल में हासिल कर सकते हैं। इन सारी चीजों को सोचने समझने के बाद इन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग को करने को फैसला किया और इसमें ही अपना कैरियर बनाने में लग गए लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग का ये सफर इनके लिए इतना भी आसान नहीं होने वाल था, दीपक सर बताते हैं जब इन्होंने इस बिजनेस को स्टार्ट किया था तब इनको जिसपर सबसे ज्यादा उम्मीद थी उसी ने इनका साथ नही दिया, इनके जितने भी दोस्त थे जिनपर ये बहुत ज्यादा भरोसा करते थे उन्होंने ने भी इनके साथ बिजनेस करने से मना कर दिया, दीपक बजाज सर जब नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत किए थे उस समय ये अपनी पहली सेमिनार मीटिंग में ही अपने 40 दोस्तों को इनवाइट किए थे लेकिन उनमें से कोई नही आया और सिर्फ दो तीन लोग आए थे जो की वो भी सेमिनार के बाद चले गए, इनको शुरुआती दिनों में बहुत ना सुनने को मिला जिनके पास भी ये बिजनेस का प्रस्ताव लेकर जाते थे वही लोग मजाक उड़ाने लगते थे और बोलते थे की तुम तो अच्छे खासे जॉब में हो, अच्छी खासी सैलरी है, तुम्हे अचानक क्या हो गया, अगर जॉब में कोई समस्या आ रही है, कोई परेशानी है तो बताओ ये बिजनेस कब से करने लगे।

लेकिन दीपक सर अपना काम करते गए और धीरे धीरे जब ये नेटवर्क मार्केटिंग से अच्छा पैसा कमाने लगे तब इन्होंने अपनी जॉब छोड़ने का फैसला किया और नेटवर्क मार्केटिंग को ही अपना फुल टाइम कैरियर बनाना चाहा। दीपक बजाज सर बताते हैं जब ये जॉब छोड़ने वाले थे उस समय इनके घर में एक बैठक हुई थी, सारे रिश्तेदार इक्कठा हुए और इनको समझाने में लग गए की तुम जॉब मत छोड़ो, पागल हो गए हो, बर्बाद हो जाओगे, इनकी मौसी तो इनकी मां को बोल रहीं थीं की इसको किसी भूत प्रेत का साया लग गया है, इसकी झाड़ फूंक करवाओ, किसी बाबा जी को दिखाओ, दीपक सर के मामा जी तो ये बोलने लगे की तुम्हारी अच्छी खासी जॉब है, जितना पैसा तुम्हारी मम्मी पापा को रिटायरमेंट पे नही मिला उतना तुम्हारी सैलरी है इसलिए तुम्हे पैसों की कदर नही, देखना एक दिन ऐसा आएगा जब तुम एक एक पैसों के लिए मोहताज हो जाओगे।

दीपक सर ने सबकी सुनी लेकिन की अपने मन की क्योंकि इनको अपने आप पर भरोसा था, नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस पर भरोसा था, उन्होंने लोगों को इस बिजनेस से कामयाब होते देखा था और इनकी भी चाहत थी की मुझे बड़ा आदमी बनना है, लाइफ में कुछ बड़ा करना है जॉब करके सिर्फ जिंदगी कट सकती है अगर लाइफ में बड़ा आदमी बनना है तो बिजनेस ही करना पड़ेगा। दीपक बजाज सर बताते हैं की वे अपने नेटवर्क मार्केटिंग के शुरुआती दिनों से ही अपने एक सीनियर के साथ रहने लगे थे जिनसे उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिलता था और काम करने के लिए मोटिवेशन भी मिलती थी।

इनकी एक और चीज इस बिजनेस में रुकावट बन रही थी वो थी इनकी डिग्री, फैमिली स्टेटस लेकिन इन सब चीज को भूलकर इन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग को शुरू से शुरुआत किया और लगातार मेहनत करते गए, इनको भी बहुत ना सुनने को मिला, लोगों के ताने सुनने को मिले, लेकिन इन्होंने कभी हार नही मानी और अपने काम में लगे रहे और इसी का फलस्वरूप है की आज ये सफलता की बुलंदियों पर हैं तथा भारत के सबसे बड़े नेटवर्क मार्केटिंग लीडर में आते हैं, ऐसा कोई नेटवर्क मार्केटर नही होगा जो इनका नाम ना जानता हो, इन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री को एक अलग ही दिशा दी है।

इन्होंने अपनी नेटवर्क मार्केटिंग जर्नी में बहुत मेहनत किया और सफलता हासिल की जिसके फलस्वरूप आज ये लोगों को भी इस बिजनेस के प्रति जागरूक कर रहें हैं और लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग की ट्रेनिंग देते हैं।

दीपक बजाज सर आज Mi Lifestyle Company के टॉप Achiever हैं तथा सबसे ज्यादा कमाई करने वाले व्यक्तियों में से हैं, और जब से इन्होंने अपनी किताब “बनिए नेटवर्क मार्केटिंग मिलेनियर” पब्लिश की है तब से तो इनको और एक अलग ही पहचान मिली है, इन्होंने ये किताब 2018 में पब्लिश की थी जो की आज नेटवर्क मार्केटिंग की सबसे बेस्ट सेलिंग किताब बन चुकी है, इसमें इन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में विस्तार से समझाया है की नेटवर्क मार्केटिंग क्या है, सभी को नेटवर्क मार्केटिंग क्यों करना चाहिए, इस बिजनेस के क्या क्या फायदे हैं तथा नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के तरीके बताएं हैं। इनका एक यूट्यूब चैनल भी जहां ये नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में सिखाते हैं।

FAQ

Deepak Bajaj Net Worth in Rupees

दीपक बजाज सर के पास लगभग 20 करोड़ रूपए की संपत्ति है।

Deepak Bajaj Company Name

Mi Lifestyle Marketing Global Private Limited

Deepak Bajaj Monthly Income

दीपक बजाज सर Network Marketing Business, Book Selling, YouTube, Online Courses, Training Programs इत्यादि को मिलाकर हर महीने हर महीने 5 से 20 लाख रुपए तक की कमाई करते हैं।

Who is Deepak Bajaj

Network Marketer, Business Coach, Writer, Motivational Speaker, Network Marketing Trainer, Youtuber.

Deepak Bajaj Wife

दीपक बजाज की पत्नी का नाम तनीमा बजाज है

Deepak Bajaj Age

दीपक बजाज की उम्र 2022 तक 42 साल है

Deepak Bajaj Books

Baniye Network Marketing Millionaire, Achieve More Succeed Faster, Be A Social Media Millionaire

Deepak Bajaj Cars

दीपक बजाज सर के पास Mercedes, BMW जैसी कई महंगी गाडियां हैं।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने Deepak Bajaj Biography in Hindi के बारे में विस्तार से जाना, मुझे पूरा उम्मीद है अब आप इनके लाइफ से जुड़ी हर एक सवालों का जवाब मिल गया होगा। दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें ताकी अन्य लोग भी Deepak Bajaj Biography in Hindi के बारे में पढ़ सकें और इनके जीवन परिचय के बारे में जान सकें।

Leave a Comment