FDSA Kya Hai? डायरेक्ट सेलिंग में इसका क्या महत्व है? इसका सदस्य बनने के लिए नियम व शर्तें

दोस्तों अगर आप FDSA के बारे में जानना चाहते हैं और सर्च कर रहें हैं FDSA Kya Hai या What is FDSA in Hindi तो यह आर्टिकल आपके लिए है, आज इस आर्टिकल में मैं आप सभी को FDSA के बारे में विस्तार से बताऊंगा तो दोस्तों अगर आप इसकी पूरी जानकारी लेना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को लास्ट तक जरूर पढ़ें।

FDSA Kya Hai

FDSA डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों की एक संस्था है जो डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों की गतिविधियों पर नजर रखता है और उनके लिए नियम बनाता है ताकि वे भारत में लीगल रूप से डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस कर सकें। FDSA एक स्वतंत्र संस्था है इसका भारत सरकार से कोई ताल्लुकात नही है लेकिन ये डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन को फॉलो करता है और उसे प्रचार करता है ताकि सभी डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां उसे फॉलो करे।

FDSA Full Form – Federation of Direct Selling Association

जिस तरह से IDSA को तीन विदेशी कंपनियां Amway, Avon और Oriflame ने मिलकर बनाया था, ठीक इसी तरह FDSA को भी चार भारतीय डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों (RCM, ARL, Tranzindia, Sarso Biznet) ने मिलकर बनाया है, इसकी शुरुआत सन् 2011 में हुई थी तथा इसका मुख्यालय हैदराबाद में है। वर्तमान में AP रेड्डी इसके प्रेसिडेंट तथा राजीव गुप्ता इसके वाइस प्रेसिडेंट हैं, मेंबरशिप की बात करें तो इसमें Founder, Fellow और Provisional मेंबर को मिलाकर 25 के आसपास डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां इसकी लिस्ट में शामिल हैं।

FDSA Member List

FDSA की Member कंपनियों को तीन कैटेगरी में बांटा गया है

1. Founder Membership
2. Fellow Membership
3. Provisional Membership

1. Founder Membership

FDSA की Founder Membership में सिर्फ चार कंपनियां ही आती है इनके अलावा और किसी को इस लिस्ट में शामिल नही किया जा सकता क्योंकि इन्ही चार कंपनियों ने मिलकर FDSA की स्थापना की है –

  • RCM – Fashion Suitings Private Limited
  • TranzIndia Corporate Network Pvt. Ltd.
  • ARL Retail Pvt. Ltd.
  • SARSO BIZNET International Pvt. Ltd.

2. Fellow Membership

इस लिस्ट में कोई भी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी शामिल हो सकती है लेकिन इसके लिए कुछ नियम व शर्ते हैं जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे, वर्तमान में इसकी मेंबर लिस्ट आप देख सकते हैं –

  • My Recharge Private Limited
  • Unibiz Multi Trade Private Limited
  • Oriens Global Marketing Private Limited
  • Add Shop Promotions Private Limited
  • Mi Lifestyle Marketing Global Private Limited
  • Happy Health India Marketing Private Limited
  • Green Planet Bio Products Private Limited
  • Arya Smart Marketing Private Limited
  • Asclepius Wellness Private Limited
  • Pro Healthwayz International LLP
  • Alex World Class Products Private Limited
  • Oxi9 Essentials Pvt Ltd

Provisional Membership

इस लिस्ट में उन कंपनियों को रखा जाता है जिन्हे डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में 1 साल नही हुआ रहता है या जो नई कंपनियां हैं, लेकिन 1 साल से अधिक समय हो जाने के बाद उन्हें भी Fellow Membership में शामिल कर लिया जाता है। यहां हम किसी कंपनी के बारे में नही बता रहें हैं क्योंकि ये वैसे भी एक साल पूरा हो जाने पर Fellow Membership में चले जाएंगे।

FDSA के सदस्य बनने के लिए नियम व शर्ते

  • कंपनी डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस कर रही हो या करने की इच्छुक हो।
  • वह कंपनी भारत सरकार द्वारा जारी डायरेक्ट सेलिंग की सभी गाइडलाइन को फॉलो करती हो।
  • उस कंपनी का मार्केटिंग प्लान ऐसा होना चाहिए जिसमे सिर्फ प्रोडक्ट बिक्री होने पर ही पैसा मिले अन्य और किसी तरीके से नही। यानी की किसी तरह का मनी सर्कुलेशन प्लान नही होना चाहिए।
  • वह कंपनी अपने उत्पादों का स्वामित्व रखती हो यानी उसकी खुद की उत्पादन इकाई हो।
  • कंपनी के डायरेक्टर्स पर किसी तरह का कोई अपराधिक मामला दर्ज ना हो या किसी अपराधिक मामले में दोषी करार ना दिए गए हों।

FDSA के सदस्य बनने के लिए कैसे अप्लाई करें?

  • इसकी सदस्यता पाने के लिए कंपनी को एक फॉर्म भरकर FDSA के मुख्यालय (हैदराबाद) में भेजना होता है, जिसमे 25000 रुपए सिक्योरिटी मनी भी लगती है, इसकी ज्यादा जानकारी आप इसके ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।
  • अप्लाई करने के बाद FDSA के प्रेसिडेंट और इसके अधिकारी उस कंपनी के बारे में जांच करते हैं, की वह कंपनी FDSA की सदस्यता पाने के लायक है या नही।
  • अगर सबकुछ सही रहा तो FDSA के प्रेसिडेंट उस कंपनी को शामिल करने के लिए मंजूरी दे देते हैं।
  • अगर उस कंपनी को डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में एक साल से ज्यादा समय हो चुका है तो उसे Fellow Membership में रखा जाता है, इसकी सालाना फीस 2 लाख रुपए है।
  • अगर उस कंपनी को डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में अभी ज्यादा दिन नहीं हुआ है और वह कंपनी नई है तो उसे Provisional Membership में रखा जाता है, इसकी सालाना फीस 1 लाख रुपए है। हालांकि 1 साल से अधिक समय हो जाने के बाद उसे भी Fellow मेंबरशिप में शामिल कर लिया जाता है।
  • FDSA की मेंबर बने रहने के लिए कंपनी को हर साल 2 लाख रुपए जमा करने होते हैं।

FDSA का डायरेक्ट सेलिंग में क्या महत्व है?

इस बात को आप अच्छे से समझ लीजिए की FDSA एक स्वतंत्र संस्था है यह भारत सरकार के अंतराल में नही आता और सभी डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों को इसका मेंबर होना जरूरी नही है लेकिन इसका मेंबर बनने से लोगों को उस कंपनी पर भरोसा हो जाता है की अगर वह FDSA का मेंबर है तो जाहिर से बात है भारत सरकार की डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन को फॉलो करती होगी जिससे उसके फ्रॉड होने के चांसेस कम हो जाते हैं और लोग उसपर ट्रस्ट करते हैं इस हिसाब से FDSA डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों के लिए एक महत्वपूर्ण है रोल प्ले करता है।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में आपने FDSA Kya Hai के बारे में विस्तार से जाना, मुझे पूरा उम्मीद है अब आपको FDSA की पूरी जानकारी हो गई होगी। दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अन्य लोगों तक या यदि आप डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस में हैं तो अपने टीम तक जरूर शेयर करें ताकी वे लोग भी FDSA Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी पढ़ सकें।

Leave a Comment