डॉ. विवेक बिंद्रा का जीवन परिचय | Vivek Bindra Biography in Hindi

दोस्तों आज इस आर्टिकल में हम भारत के एक प्रसिद्ध मोटिवेशनल स्पीकर और बिजनेस कोच डॉ. विवेक बिंद्रा सर की बायोग्राफी के बारे में जानने वाले हैं जिसमे हम इनकी फैमिली, बचपना, स्कूल लाइफ, शिक्षा तथा सफलता की कहानी को विस्तार से जानेंगे। तो चलिए दोस्तों अब बिना देरी किए सीधे प्वाइंट पे आते हैं और जानते हैं Vivek Bindra Biography in Hindi के बारे में।

Vivek Bindra Biography in Hindi

Vivek Bindra जी का जन्म 5 अप्रैल 1982 को लखनऊ, उत्तर प्रदेश में हुआ था हालांकि विवेक जी जब महज ढाई साल के थे तभी इनके पिताजी का देहांत हो गया था और इनके माताजी ने दूसरी शादी कर ली जिस वजह से विवेक जी का बचपन में ही उनके सर से पिता का साया उठा चुका था। इसके बाद विवेक जी अपने माताजी के साथ रहने के बजाय अपने दादा दादी और चाचा जी के साथ रहने लगे।

विवेक जी ने अपनी स्कूली शिक्षा कई अलग अलग स्कूलों से पूरी की, स्कूल की पढ़ाई करने के बाद ये नोएडा चले गए और नोएडा के AMITY Business College से MBA की की पढ़ाई की। Vivek Bindra सर अपने कई इंटरव्यू में बताते हैं की इनको बचपन से ही स्पोर्ट्स का बहुत शौक था और कई खेलों में पार्टिसिपेट किया करते थे खासकर के बैडमिंटन इनको बहुत पसंद था। दोस्तों आप विवेक बिंद्रा जी के वीडियो में अक्सर Bounce Back शब्द सुनते होंगे ये बाउंस बैक शब्द स्पोर्ट्स के वजह से ही इनके जीवन में आया, विवेक बिंद्रा बताते हैं की आज वे अपने लाइफ में कामयाब हैं तो इसमें उनके बचपन का खेल कूद का बहुत योगदान रहा है जो उनको हमेशा बाउंस बैक करने के लिए प्रेरित करता है और जीवन में कभी हार ना मानने की शक्ति देता है। लेकिन दोस्तों विवेक जी की सफलता की राह इतनी भी आसान नहीं थी बचपन से ही इन्होंने बहुत संघर्ष किया है।

इनकी संघर्ष का आंकलन आप इसी बात से लगा सकते हैं की जब वे पढ़ाई करते थे तो स्कूल के फीस भरने तक के इनके पास पैसे नहीं होते थे जिसके वजह से Vivek Bindra जी ने खुद से पैसे कमाने का ठाना और 16 साल की उम्र से ही ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दिया, ट्यूशन से इनकी ठीक ठाक कमाई हो जाती थी अगर ये चाहते तो ट्यूशन को ही अपना कैरियर बना सकते थे लेकिन इन्होंने कुछ और करने का सोंचा।

Vivek Bindra जी के जीवन में एक ऐसा भी समय आया था जब इन्होंने खुद के बारे में सोचा की मेरी तो कोई फैमिली नही है माता पिता भी नही है तो क्यों ना भगवान के चरणों में खुद को समर्पित कर दिया जाए जिस वजह से इन्होंने साधु बनने का ठाना और वृंदावन चले गए, वहां पर ये लोगों की सेवा करते, भगवान की पूजा पाठ करते, धोती कुर्ता पहनते और जमीन पर ही लेट जाते इस तरह से विवेक बिंद्रा जी लगभग 4 साल तक वृंदावन में साधु बनाकर रहे। उस दौरान Vivek Bindra जी अपने जीवन के मानसिक तनाव से भी गुजर रहे थे जिसके वजह से इनके गुरुजी ने इनको गीता पढ़ने की सलाह दी। जिस वजह से आप अक्सर इनके विडियोज में गीता की ज्ञान को बताते हुए देखा होगा। विवेक बिंद्रा जी कहते हैं की गीता कोई धार्मिक किताब नही बल्कि ये एक ऐसी किताब है जो एक इंसान को यह सिखाता है की जीवन कैसे जीना चाहिए। विवेक जी का यह भी मानना है की आज वे जीवन में जो कुछ भी है वे गीता के ज्ञान के वजह से ही है।

Vivek Bindra जी जब साधु जीवन जी रहे थे तब इनके गुरु जी ने ही इनको कहा की तुम लोगों की बहुत मदद कर सकते हो इसलिए जो तुम साधु बनाकर मदद करोगे उससे कहीं ज्यादा एक नॉर्मल इंसान बनकर ज्यादा मदद कर पाओगे जिस वजह से विवेक जी ने अपने गुरुजी का बात मानते हुए साधु जीवन से फिर से एक नॉर्मल जीवन पे आ गए और सोच लिए की जो लोग बिजनेस में कामयाब नही हो पाते या पैसों की वजह वे बिजनेस नही कर पाते उनकी मदद करेंगे और इस तरह से ये एक बिजनेस सलाहकार बने।

आज के समय में Vivek Bindra जी भारत के सबसे बड़े मोटिवेशनल स्पीकर और बिजनेस कोच के रूप में जाने जाते हैं लेकिन दोस्तों इनका ये सफर इतना भी आसान नहीं था क्योंकि इनके पास कंपनी खोलने के लिए पैसे नही थी और किसी भी तरह इन्होंने पैसे जुटाकर एक कमरे किराए पर लिया और वहीं से अपनी बिजनेस की शुरुआत की। पर शुरुआती दिनों में इनको बहुत संघर्ष करना पड़ा था विवेक बिंद्रा जी ने अपनी एक इंटरव्यू बताया था एक बार ऐसा टाइम आया था जब इनके पास अपने कर्मचारियों को सैलरी देने तक के पैसे नही थे जिसके वजह से इन्होंने अपनी घर को ही बेंच दिया और अपने कर्मचारियों को सैलरी दिए और इस तरह से संघर्ष करते करते विवेक जी ने आज वो मुकाम हासिल किया है की लाखों लोग और हजारों कंपनियां उन्हे अपनी आईडल मानते हैं।

Vivek Bindra जी का अपना एक YouTube Channel भी है जहां पर वे अपने विडियोज के माध्यम से लोगों को इंस्पायर कर रहें हैं इनके विडियोज को लोग बहुत पसंद करते हैं और आज के समय में इनके यूट्यूब चैनल पर 20 Million से भी ज्यादा Subscribers हो चुके हैं।

Vivek Bindra Wikipedia

नाम विवेक बिंद्रा
उपनामबिंद्रा सर
जन्म तिथि5 अप्रैल 1982
जन्म स्थानलखनऊ, उत्तर प्रदेश
उम्र 40 वर्ष
पिता नाम ज्ञात नही
मातानाम ज्ञात नही
स्कूल की पढ़ाईसेंट जेवियर्स स्कूल, दिल्ली
कॉलेज की पढ़ाईAMITY Business College, Noida
डिग्रीBBA, MBA
पेशामोटिवेशनल स्पीकर, बिजनेस सलाहकार
शौकट्रैवल करना, किताबे पढ़ना
वैवाहिक स्थिति वैवाहित
पत्नी नामगीता सबरवाल
बच्चेदो बच्चे, (नाम ज्ञात नही है)
धर्महिंदू
नागरिकताभारतीय
वर्तमान निवास नई दिल्ली, भारत
संपत्ति100 करोड़
पुरुष्कारAsia Game Changer Award By Economic Times & The Best CEO Coach In India Award By Times of India, और भी कई

FAQ

Vivek Bindra Net Worth

विवेक बिंद्रा जी के पास लगभग 100 करोड़ रुपए की संपत्ति है।

Vivek Bindra Age

विवेक बिंद्रा जी का जन्म 5 अप्रैल 1982 को हुआ था इस हिसाब से 2022 में इनकी उम्र 40 साल हो रहा है।

Vivek Bindra Bada Business

विवेक बिंद्रा जी की कंपनी Bada Business लोगों को एक सफल Entrepreneur बनने में मदद करता है।

Vivek Bindra Wife

विवेक बिंद्रा जी की वाइफ का नाम गीता सबरवाल है।

Vivek Bindra House

विवेक बिंद्रा जी का हाउस दिल्ली में स्थित है।

Vivek Bindra Sallary

विवेक बिंद्रा जी हर महीने 30-50 लाख रुपए की कमाई करते हैं।

Vivek Bindra Books

विवेक बिंद्रा जी की किताबें – Doble Your Growth, Everything About Leadership, From Pocket Money of Professional Sallary.

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में मैने आपको Vivek Bindra Biography in Hindi के बारे में बताया जिसमे आपने विवेक बिंद्रा जी की फैमिली, बचपना, स्कूल लाइफ, शिक्षा तथा सफलता की कहानी को विस्तार से जाना। दोस्तों हमें विवेक बिंद्रा जी के जीवन से यह सीख लेना चाहिए की जीवन में चाहे कितनी भी मुश्किल परिस्थिति आए हमें अपने लक्ष्य पे डेट रहना चाहिए, अगर कड़ी मेहनत और संघर्ष किया जाए तो सफलता जरूर प्राप्त होगी।

दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे अन्य लोगों तक जरूर शेयर ताकी वे लोग भी Vivek Bindra Biography in Hindi के बारे में पढ़ सकें और दोस्तों हमें कमेंट करके जरूर बताएं की आपको यह आर्टिकल कैसा लगा।

Leave a Comment